Married Family Issues

भारत देश जहा कुछ ही सालो पहले परिवारों के साथ हँसता मुस्कुराता हुआ दिखाई देता था, लेकिन आज बडती पाश्चात्य सभ्यता के चलते 60 से 70% शादीशुदा स्त्री पुरुषों का जीवन, खुशहाली का जीवन नहीं बल्कि घुट घुट कर जीवन जीने को मजबूर खड़े हे, और इन्ही के परिणाम स्वरूप सरकारी आंकड़ो के अनुसार भारत में प्रत्येक  10 मिनिट  में एक शादीशुदा इंसान आत्महत्या कर अपना जीवन समाप्त कर  रहा हे ! लेकिन अफ़सोस इस आंकड़े से अधिकाँश  सारे लोग अनजान हे और साथ ही इस महापाप से भी अनजान ही हे !

कारन सिर्फ इतना सा कि आज का इंसान रिश्ते शब्द का मतलब भूल गया, सिर्फ पढाई – दोस्त – माता पिता, भविष्य  और मौज मस्ती याद रहा  और उन्ही के कारण धर्म का भी अभाव हो गया और परिणाम में चारो और अधिकाँश परिवारों में तनाव का माहोल बन चूका हे! अगर आप भी किसी गहरी समस्या से जूझ रहे हो, [परेशान चल रहे हो, आपको कोई सही नही समझ पा रहा हो, आपका  अनादरहोता हो, आप अपने ही  अन्दर अकेला महसूस करते हे, अगर आपको कोई अपना नहीं लगता तो बिना संकोच किए आप हमसे जुड़ सकते हे और एक बार फिर से  आपके दुखी और क्लेशी जीवन को स्वर्ग जेसा खुशहाल जी सकते हे! और आपके सपनो को साकार कर दिखा सकते हे!

हम आपके जीवन को सही उचित सलाह के साथ हर यथा संभव मदद कर आपके जीवन में खुशियों का आवागमन करने हेतु तत्पर हे ! मनुष्य ही मनुष्य के काम आ सकता हे,, लेकिन आज के मनुष्यों से ज्यादा अच्छी एकता तो गली के कुत्तो के झुण्ड में देखने को मिलती हे, और दुःख का सबसे बड़ा यही  कारण हे !